Friday, February 14, 2014


हम तो आज भी वही हैं जो कल थे,

हमारा तो सिर्फ वक़्त  बदला है.


बदलते रहना तो दुनिया कि फितरत है,
कोई बदलता है वक़्त  के साथ तो,
कोई बदल जाता है दुनिया के साथ.


हम ना बदले तो इसमे हमारा  क्या क़सूर।
हमारा तो सिर्फ वक़्त  बदला है, हैं तो आज भी वही,


तुम क्यों सोचते हो कि हम अब वक़्त के साथ सब भूल गए ,
भूले तो हम उस  वक़्त को हैं तुमको नहीं ,

हम न बदले बदला  तो वक़्त है  .

लोगो का हमे समझने का नजरिया बदला है..
हमारा तो केवल समय बदला है...

हमारा नजरिया  आज भी वही है जो कल था,
बदला है सिर्फ नजरिये को समझाना।

किसके लिए क्या सोचते हैं, जो कल सोचा वो आज भी सोचते  ,
बदली  तो सिर्फ लोगो की सोच है  ,

हम तो आज भी वही हैं जो कल थे,
हमारा तो सिर्फ वक़्त  बदला है.

0 comments:

Google+ Followers