Tuesday, November 13, 2012


साथ तुम हो तो  कम हैं ये दूरियाँ भी,,
साथ तुम हो तो  ना है चिंता कोई,,
साथ तुम हो तो सब कुछ है अच्छा।।
       साथ जो तुम हो तो ।।।।

साथ तुम हो तो ना है कोई मुशीबत बड़ी,
साथ तुम हो हर दर्द हस कर सह लूं ,,,,
साथ तुम हो तू भूल जाऊं इस जहां को भी।।
       साथ जो तुम हो तो।।।।

साथ तुम हो तो में बदल दूं ये तकदीर अपनी,,
साथ तुम हो तो में छू लूं आसमा को भी ,,,
साथ तुम हो तो रोक दूं इस वक्त को यहीं।।
        साथ जो तुम हो तो।।।।

साथ तुम हो तो पार कर दूं ये काँटों भरी राह भी,
साथ तुम हो तो बेनूर को भी नूर कर दूं,,
साथ तुम हो तो मोड़ दूं हवा का रुख भी।।
       साथ जो तुम हो तो।।।

बस एक तेरे साथ से।।।।।।।।



0 comments:

Google+ Followers